क्या आप पोकर नियम के बारे में जानना चाहते हैं?

Poker Rules

पोकर कैसे खेलते है? पोकर गेम के रूल्स क्या है? आइए समझे, पोकर एक ऐसा शानदार खेल है जिसे कई तरीकों से खेला जा सकता है। मौजूदा पत्ते और उसके क्रम के आधार पर जिस प्लेयर के पास सबसे मज़बूत पत्ते (स्ट्रॉन्ग हेन्ड) हो उसे विनर घोषित किया जाता है।

पोकर गेम के रूल्स क्या है?

  • हेन्डस 

हेन्डस के विविध प्रकार होते है। जिनको, सबसे ज्यादा मूल्य से सबसे कम मूल्य के क्रम में उदाहरण के साथ दिखाया गया है।

  • रोयल फ्लश

पांच कार्ड जो एक ही सूट के, एक ही संख्या क्रममें हो जिसमें सबसे बड़ा कार्ड इक्का हो। रोयल फ्लश सबसे ज्यादा मूल्य वाला कार्ड संयोजन है और उसे पोकर नियम अनुसार अपराजेय माना जाता है।

उदाहरण : 10♥ J♥ Q♥ K♥ A♥

  • स्ट्रैट फ्लश

एक ही क्रममें आते एक ही सूट के पांच कार्ड से स्ट्रैट फ्लश बनता है।

उदाहरण : 9♠ 10♠ J♠ Q♠ K♠

  • फोर ऑफ़ अ काइंड

एक ही नंबर के चारो कार्ड आप के पास है तो आप खुशनसीब हो, उसे फोर ऑफ़ अ काइंड कहते है, जो एक पावरफुल हेन्डस है।

उदाहरण: 9♠ 9♦ 9♥ 9♣ 5♣

  • फुल हाउस

जब प्लेयर के पास एक ही अंक के तीन पत्ते (थ्री ऑफ़ अ काइंड) और एक ही अंक की पेअर हो तो उसे फुल हाउस कहते है।

उदाहरण: 9♠ 9♦ 9♥ 5♣ 5♥

  • फ्लश

जब आप के पांचो कार्ड एक ही सूट के हो तो उसे फ्लश कहते है । अगर दो खिलाडी के पास फ्लश हो तो जिसका पत्ता भारी हो वह विनर कहलाएगा।

उदाहरण: 9♠ 5♠ Q♠ K♠ 7♠

  • स्ट्रैट

स्ट्रैट एक पांच कार्ड वाला हेन्ड है जिसमें कार्ड की एक रनिंग सिक्वेंस होती है, जिसमे सूट होने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर दो खिलाडी के पास स्ट्रैट हो तो जिसका पत्ता भारी हो वह विनर कहलाएगा।

उदाहरण : 9♠ 10♠ J♦ Q♥ K♦

  • थ्री ऑफ़ अ काइंड

जिसमें एक ही रैंक के तीन पत्ते हो उसे थ्री ऑफ़ अ काइंड कहते है ।

उदाहरण: 9♠ 9♦ 9♥ 5♣ 8♣

  • टू पेअर

जब एक प्लेयर के पास दो पेअर हो तो उसे टू पेअर कहेंगे। और अगर दो प्लेयर के पास दो पेअर हो तो जिसके पास सब से ऊँची पेअर जो वह विनर कहलाएगा।

उदाहरण : 9♠ 9♦ 5♣ 5♥ 8♥

  • वन पेअर

जब आप के पास एक पेअर हो।

उदाहरण : 9♠ 9♦ 5♣ 8♣ K♥

  • हाई कार्ड

अगर कोई भी प्लेयर के पास कोई कॉम्बिनेशन नहीं है, तो जिसके पास सबसे ऊँचा कार्ड है उसे हाई कार्ड कहा जायेगा और वह विनर कहलाएगा।

उदाहरण : 5♣ 8♦ 10♠ Q♥ A♠

पोकर गेम के रूल्स के हिसाब से पोकर की टेबल एक्शन

बेट – बाज़ी की रकम को बढ़ाने को बेट कहते है।

रैइस  – एक पोकर खिलाडी जब सोचता हे की उसके पास गुड हेन्ड है या फिर वह पोकर की योजना अनुसार दुसरे खिलाडी को जाताना चाहता है की उसके पास गुड हेन्ड है तो वह अपनी मौजूदा बाज़ी की रकम को बढ़ा देता है, जिसे रैइस कहते है।

फोल्ड – जब एक पोकर खिलाडी सोचता है की उसके पास जीतने के लिए कोई भी अच्छा हेन्ड नहीं है और वह नहीं चाहता की मौजूदा बाज़ी की रकम बढ़े, तो वह अपने पत्ते को बोर्ड पे बिछा कर अपनी बाज़ी को बंध करता है, जिसे ‘फोल्ड’ कहते है। पोकर की योजना अनुसार खिलाडी ‘फोल्ड’ इस लिए करता है की अगर वह जीते नहीं तो कम से कम बाज़ी की रकम ज्यादा ना गवाए।

कॉल – जब खिलाडी बाज़ी की रकम को रैइस करता है, फिर गेम्स के रुल्स के अनुसार, दुसरे खिलाडियों को सोचने का मौका दिया जाता है की वह भी अपनी बाज़ी की रकम को रैइस करे या फोल्ड करे या कॉल करे। कॉल करना यानी की आखरी खिलाडी ने रैइस की हुई बाज़ी की बराबरी करना।

चेक

अगर कोई भी खिलाडी मौजूदा बाज़ी की रकम को न बढ़ाते हुए खेल को जारी रखना चाहता है, तो वह चेक कर सकता है। आप तभी ही चेक कर सकते हो जब कोई आप के आगे का खिलाडी कोई बाज़ी नहीं लगाता। आप चेक करके, बाज़ी की रकम को बढ़ाना या बरक़रार रखने का ऑप्शन आप के बाद के खिलाडी को पास करते हो । पोकर नियम के अनुसार चेक हमेशा क्लॉकवाइज यानि घडी के कांटे के अनुसार चलता है । जब सभी मौजूदा खिलाडी चेक करते है तो राउंड पूरा हुआ ऐसा समजा जाता है।

बेटिंग राउंड

अगल अगल प्रकार के पोकर के अलग पोकर नियम और राउंड होते है

  • ब्लाइंड

जो प्लेयर्स डीलर बटन की बाईं ओर बैठा है । वह स्माल ब्लाइंड और उसके बाद का प्लेयर बिग ब्लाइंड खेल सकता है।

  • प्री-फ़्लॉप

पोकर नियम अनुसार जिन पत्तों को दुसरे प्लेयर्स से छुपाना होता है उसे होल कार्ड्स कहते है, जैसे ही प्लेयर्स को अपने होल कार्ड्स मिलते है तभी से प्री-फ़्लॉप बेटिंग राउंड शुरू होता है।

  • फ्लॉप

जब तीन कम्युनिटी कार्ड्स को बोर्ड पे खोले जाते है उसे फ्लॉप कहते है।

  • टर्न

दूसरे राउंड में एक कम्युनिटी कार्ड खोला जाता हे उसे टर्न कहते है।

  • रिवर

तीसरे राउंड में एक और बार एक कम्युनिटी कार्ड खोला जाता है उसे रिवर कहते है।

  • शो डाउन

फाइनल राउंड मैं शो डाउन होता है, सभी खेलने वाले प्लेयर्स अपने कार्ड्स दीखाते है। जिस प्लेयर के पास सबसे अच्छे पांच कार्ड (हेन्डस) हो वह बाज़ी जीत जाता है। अगर दो प्लेयर के पास एक वैल्यू के कार्ड्स (हेन्डस) हो तो बाज़ी की रकम को समान भाग में बाट दिया जाता है।

  • बेटिंग लिमिट

प्लेयर बाज़ी को कितनी रकम से शुरू करता है और बढ़ा सकता (रैइस) है उसे बेटिंग लिमिट कहते है। आमतौर पे पोकर गेम में तीन प्रकार की लिमिट होती है; नो लिमिट, पॉट लिमिट और फिक्स्ड लिमिट।

  • नो लिमिट

नो लिमिट में प्लेयर जितना भी चाहे उतनी रकम से अपनी बेट खोल और बढ़ा सकते है।
प्लेयर किसी भी राउंड में अपने पास रही पूरी रकम को दांव पर लगा सकता है।

  • पॉट लिमिट

पॉट लिमिट में प्लेयर एक तय की गयी कुल पॉट लिमिट से आगे अपनी बेट शुरू नहीं कर सकता और बढ़ा (रैइस) भी नहीं सकता।

  • फिक्स्ड लिमिट

फिक्स्ड लिमिट में प्लेयर एक पहले से तय की गयी रकम से ही बेट शुरू कर सकता है और रैइस कर सकता है। हर एक कॉल, बेट और रैइस के लिए एक फिक्स्ड लिमिट पहले से ही तय की जाती है।

क्या आप पोकर के एक अच्छे खिलाडी हो ? पोकर कैसे खेलते है वह आप को पता है ? और खेल में कैसे जीता जाता है वह भी आप को अच्छी तरह से आता है ?   तो क्यों न रम्मी में भी अपना हुनर आज़माया जाये ? आइये रम्मी खेले और बडा इनाम जीतें । रम्मी खेलने के लिए लॉग इन करे

www.khelplayrummy.com/

Related Posts

About The Author

Add Comment